Indian Art



{short description of image}

योजनाएं

विभागीय सहायतानुदान परियोजनाएं

विभागीय परियोजनाएं

हि0प्र0 सरकार के पत्र संख्या: भाषा-क(3)10/80, दिनांक: 11-10-1980 द्वारा अनुमोदित)

क्र0 परियोजना का नाम प्रभाग से संबद्ध है
1 अव्यवसायी नाट्य संस्थाओं / नृत्य दलों को सहायतानुदान देने की परियोजना निष्पादन कला
2 लोक कलाओं हेतु सहायतानुदान निष्पादन तथा ललित कला
3 साहित्यिक/ सांस्कृतिक / कलागोष्ठी/ सम्मेलन/ समारोह हेतु सहायतानुदान भाषा, निष्पादन कला, ललित कला
4 निष्पादन कलाओं पर प्रतियोगिता, उत्सव आदि के आयोजन हेतु सहायतानुदान निष्पादन कला
5 ललित कला की प्रतियोगिता/उत्सव आदि के आयोजन हेतु सहायतानुदान ललित कला
6 कार्यशालाओं / सम्मेलनों / गोष्ठियों / समारोहों के आयोजन की परियोजना सभी प्रभाग
7 विभाग द्वारा प्रायोजित नाटक, नृत्य तथा निष्पादन कला के अन्य कार्यक्रमों हेतु परियोजना निष्पादन कला
8 लोकनृत्यों की वार्षिक प्रतियोगिताएं निष्पादन कला
9 वार्षिक कला प्रदर्शनी की परियोजना ललित कला तथा संग्रहालय
10 एकल कला प्रदर्शनी की परियोजना ललित कला तथा संग्रहालय
11 विभिन्न कलाओं के अध्ययन हेतु छात्रवृत्तियों की परियोजना सभी प्रभाग
12 धार्मिक संस्थानों, पुरातन स्मारकों व पुरास्थलों क लिए सहायतानुदान योजना पुरातत्त्व
13 आवर्ती निधि से धार्मिक संस्थानों की पूजा-अर्चना एवं रख-रखाव हेतु अनुदान योजना पुरातत्त्व
14 पाण्डुलिपियों, चित्रों तथा अन्य पुरातात्त्विक व अभिलेखागार के सम्बध में महत्वपूर्ण कृतियों के संरक्षण की योजना पुरातत्त्व, अभिलेखागार
15 अन्तर‍रज्यीय कवि सम्मेलन / विचार गोष्ठी । भाषा, पत्रिका
16 प्रादेशिक कवि सम्मेलन / विचार गोष्ठी भाषा, पत्रिका
17 हि.प्र. में फिल्म बनाने हेतु वित्तिय सहायता की योजना/आवेदन प्रपत्र निष्पादन कला
18 नाट्य संस्थाओं / लोक नृत्य दलों के प्रदेश में विभिन्न स्थानों में कार्यक्रम देने के लिए सहायतानुदान की परियोजना निष्पादन कला

यह सर्वमान्य तथ्य है कि आदिकाल से भारतीय संस्कृति जीवन्त रूप में निरन्तर प्रवाहमान है । कई उत्थान और पतन, कई उत्कर्ष-अपकर्ष, समय-समय पर आते-जाते रहे, परन्तु हमारी संस्कृति और इतिहास की संजीवनी शक्ति का अवसान कभी नहीं हुआ । मानवीय गुणों से परिपूर्ण भारतवर्ष की पारम्परिक संस्कृति के सभी श्रेष्ठमूल्य अपनी आंचलिक विशेषताओं के साथ हिमाचल प्रदेश की लोकसंस्कृति में भली प्रकार समाहित हैं । इसीलिए श्रेष्ठ सांस्कृतिक परम्पराओं के लिए हिमाचल प्रदेश की विशिष्ट पहचान है ।


मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेश